धर्म

सुख, समृद्धि व कड़ी सुरक्षा से विदा हुए माँ दुर्गा की प्रतिमा

गया-(रिपोर्ट-विमल कुमार वर्मा)- शहरवासी रविवार को मां दुर्गा की प्रतिमा विसर्जन करने के लिए निकले। जब मां की प्रतिमा को श्रद्धालु पुरूष, महिलाएं, बच्चे अपने-अपने घर व मुहल्ले से विदा कर रहे थे। उनकी आंखे नमन थी। हाथ जोड़ और सिर झुका कर श्रद्धालु वश यही विनती कर रहे थे कि आप अपना आशीर्वाद हम भक्ताओं पर बनाए रखना। ताकि परिवार, समाज, राज्य और राष्ट्र में सुख, समृद्धि और शांति आए। महिलाएं जिस तरह बेटी को घर से विदा करते वक्त सोलह श्रृंगार करती है, और भावुक हो जाती है। ठीक उसी प्रकार मां दुर्गा का श्रृंगार किया। कई मुहल्ले में महिलाएं मां दुर्गा की प्रतिमा के साथ चली। उसके बाद वे अपने घर वापस लौट गई।
विजयदशमी पर दुखरणी द्वार से कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रात्रि 9 बजे 5 लाइसेंसी माँ दुर्गा की प्रतिमाए विसर्जन करने के लिए ढोल नगाड़े के धुन पर निकली। माँ दुर्गे की प्रतिमा को विसजर्न के लिए शांतिपूर्ण अधिकारियों के मौजूदगी में जामा मस्जिद के पास कराया जा रहा था| यहाँ दुखहरणी मंदिर औऱ जामा मस्जिद होने के कारण काफी संख्या में पुलिस बलों की तैनाती की गई थी। साथ ही नाजुक स्थिति को देखते हुए सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गई थी। बैरिकेटिंग भी की गई थी। ताकि किसी को परेशानी का सामना नही करना पड़े। भक्ति में डूबे सभी श्रद्धालु जय श्रीराम और माँ दुर्गे के जयघोष से लगा रहे थे। दुखरणी मार्ग भक्ति जयकारे से गूंजायमान हो रहा था। हिन्दू व मुस्लिम समाज के लोगों के आपसी समन्वय से सम्प्रदायिक सौहार्द की झलक देखी गई। दिनों समुदाय के लोग काफी खुश दिख रहे थे। मालूम हो कि 1917 से माँ दुर्गा की प्रतिमाओ को जामा मस्जिद से होकर पास कराया जाता है। सुरक्षा के मद्देनजर भारी संख्या में सस्त्र बलो की तैनाती की थी|अप्रिय घटना ना घटे इसके लिए सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए थे टॉवर से बदमाशों पर नजर बनाए रखने के लिए वीडियोग्राफी कराई जा रही है। इसी से निगरानी की जा रही थी

Show More

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
Close